पीएम मोदी के दौरे से पहले आतंकियों की बड़ी साजिश नाकाम, CISF बस पर हमला करने वाले दोनों हमलावर ढेर, एक अधिकारी शहीद

पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) दिलबाग सिंह ने मुठभेड़ स्थल का दौरा करने के बाद कहा कि दोनों आतंकवादी पाकिस्तान स्थित जैश-ए-मोहम्मद के आत्मघाती दस्ते का हिस्सा थे और उनकी घुसपैठ प्रधानमंत्री मोदी की जम्मू-कश्मीर यात्रा को बाधित करने की एक ‘बड़ी साजिश’ हो सकती है। बताया कि दोनों आतंकवादी आत्मघाती जैकेट पहने हुए थे और भारी मात्रा में हथियारों और गोला-बारूद से लैस थे।

जम्मू : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दौरे (Pm Modi Jammu Kashmir Visit) से पहले एक आत्मघाती हमला (Jammu terrorist attack) करने की आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद (Terrorist organization Jaish-e-Mohammed) की कोशिश शुक्रवार को नाकाम कर दी गई और सुरक्षाकर्मियों ने मुठभेड़ में दो संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकवादियों को मार गिराया। वहीं मुठभेड़ में सीआईएसएफ के एक अधिकारी भी शहीद हो गए। अधिकारियों ने यह जानकारी दी।उन्होंने बताया कि जम्मू के बाहरी इलाके सुंजवां में सेना के शिविर के पास तड़के हुई मुठभेड़ में नौ सुरक्षाकर्मी भी घायल हो गए। इस बीच, रविवार को सांबा जिले की पल्ली पंचायत में प्रधानमंत्री के निर्धारित दौरे के मद्देनजर पूरे क्षेत्र में रेड अलर्ट जारी किया गया है।



पीएम की रैली से पहले 22 दिनों में J&K में तीसरा आतंकी हमला, सवा 4 साल बाद फिर जम्मू का सुंजवां बना निशाना

पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) दिलबाग सिंह ने मुठभेड़ स्थल का दौरा करने के बाद कहा कि दोनों आतंकवादी पाकिस्तान स्थित जैश-ए-मोहम्मद के आत्मघाती दस्ते का हिस्सा थे और उनकी घुसपैठ प्रधानमंत्री मोदी की जम्मू-कश्मीर यात्रा को बाधित करने की एक ‘‘बड़ी साजिश’’ हो सकती है।

राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) और राज्य जांच एजेंसी की एक संयुक्त टीम ने दिन में मुठभेड़ स्थल का दौरा किया। उनके मामले को जांच के लिए अपने हाथ में लेने की संभावना है।

शुरुआती जांच के अनुसार, दो आतंकवादी सांबा जिले में अंतरराष्ट्रीय सीमा से घुसपैठ करने के बाद बृहस्पतिवार को जम्मू शहर के बाहरी इलाके में घुसे और सेना के शिविर के समीप एक इलाके में रुके।

डीजीपी ने मुठभेड़ स्थल के पास संवाददाताओं से कहा, ‘कल रात पुलिस और अन्य बल एक अभियान में शामिल थे, जो पूरा हो गया…। रिपोर्ट के अनुसार, दोनों आतंकवादी जेईएम के आत्मघाती दस्ते का हिस्सा थे, जिन्हें सुरक्षा बलों के एक शिविर को निशाना बनाने के लिए पाकिस्तान से भेजा गया था, ताकि कई लोग हताहत हो सकें।’

उन्होंने बताया कि दोनों आतंकवादी आत्मघाती जैकेट पहने हुए थे और भारी मात्रा में हथियारों और गोला-बारूद से लैस थे। सिंह ने कहा, ‘यह मुठभेड़ प्रधानमंत्री की यात्रा से दो दिन पहले हुई। यह जम्मू के शांतिपूर्ण माहौल को बिगाड़ने और यात्रा को बाधित करने की एक बड़ी साजिश हो सकती है।’ उन्होंने कहा, ‘अच्छा हुआ कि हमें समय रहते जानकारी मिल गई और अभियान सफलतापूर्वक संपन्न हुआ।’

अधिकारियों ने बताया कि अभियान शुक्रवार तड़के करीब चार बजकर 25 मिनट पर शुरू हुआ था, जब सुंजवां सैन्य शिविर की ओर जा रहे दो आतंकवादियों को सुरक्षाकर्मियों ने देखा। इसी दौरान सीआईएसएफ की एक बस 15 जवानों को लेकर जम्मू हवाईअड्डे की ओर जा रही थी। इसके बाद अचानक दोनों आतंकवादियों ने बस की ओर ग्रेनेड फेंका और भागने से पहले बस पर गोलियां चलाईं। इसके बाद सुरक्षाबलों ने इलाके की घेराबंदी कर दी।

केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि आतंकवादियों ने बस पर गोलियां चलाईं और ग्रेनेड फेंका। इस हमले में सहायक सब-इंस्पेक्टर (एएसआई) एसपी पाटिल शहीद हो गए, जबकि बस में बैठे दो अन्य लोग घायल हो गए। सुरक्षाबलों ने भी उचित जवाब दिया।

बाद में सीआईएसएफ ने ट्वीट किया कि आतंकवादियों ने उसके कर्मियों पर तब हमला कर दिया, जब वे एक इलाके की घेराबंदी करने और तलाशी अभियान चलाने जा रहे थे। अधिकारियों के मुताबिक, दो पुलिसकर्मी समेत नौ सुरक्षाकर्मी मुठभेड़ में घायल हो गए। सीआईएसएफ के एक जवान और एक पुलिसकर्मी को गंभीर चोटें आई हैं।उन्होंने बताया कि सीआईएसएफ जवानों के जवाबी कार्रवाई करने पर आतंकवादी भाग गए और मोहम्मद अनवार नामक एक व्यक्ति के घर में घुस गए अधिकारियों के अनुसार, सुरक्षाबलों ने मकान को घेर लिया और एक आतंकवादी को बाथरूम की तरफ जाते वक्त मार गिराया, जबकि उसका साथी छिप गया।

उन्होंने बताया कि दूसरे आतंकवादी को ढेर करने के लिए मुठभेड़ करीब पांच घंटे चली। मारे गए आतंकवादियों की पहचान के बारे में डीजीपी ने कहा कि जांच जारी है, लेकिन प्रथम दृष्टया ऐसा लगता है कि दोनों पाकिस्तानी नागरिक थे और हाल ही में उन्होंने पाकिस्तान से घुसपैठ की थी।

डीजीपी ने कहा कि मारे गए आतंकवादियों का जम्मू-कश्मीर में आतंकी गतिविधियों में शामिल होने का कोई इतिहास नहीं है। पुलिस के अनुसार, आतंकवादियों के पास से दो एके-47 राइफल, एक अंडर बैरल ग्रेनेड लॉन्चर और एक सेटेलाइट फोन भी बरामद किया गया है। प्राधिकारियों ने मोबाइल इंटरनेट सेवाएं निलंबित करने के अलावा एहतियाती कदम के तौर पर इलाके में तथा उसके आसपास के क्षेत्रों में सभी निजी और सरकारी स्कूलों में कक्षाएं निलंबित कर दी हैं।

इससे पहले, प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन जेईएम के तीन आतंकवादी 10 फरवरी 2018 को सुंजवां सैन्य शिविर में घुस गए थे और इसके बाद मुठभेड़ में छह जवान समेत सात लोग मारे गए थे। मुठभेड़ में तीनों आतंकवादी भी मार गिराए गए थे।

गौरतलब है कि 24 अप्रैल को राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस पर प्रधानमंत्री का यहां से 17 किलोमीटर दूर पाली गांव में एक जनसभा को संबोधित करने का कार्यक्रम है। यह अगस्त 2019 में जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म करने के बाद प्रधानमंत्री मोदी का सीमा को छोड़कर जम्मू-कश्मीर का पहला दौरा है। उन्होंने राजौरी में 27 अक्टूबर 2019 को और नौशेरा सेक्टर में तीन नवंबर 2021 को सेना के जवानों के साथ दिवाली मनाई थी।

Navbharat Times News App: देश-दुनिया की खबरें, आपके शहर का हाल, एजुकेशन और बिज़नेस अपडेट्स, फिल्म और खेल की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्म-कर्म… पाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें NBT ऐप

लेटेस्ट न्यूज़ से अपडेट रहने के लिए NBT फेसबुकपेज लाइक करें

Web Title : jammu news the intention of the terrorists was to repeat the pulwama attack in jammu, cisf killed two attackers, one cisf officer martyred

Hindi News from Navbharat Times, TIL Network

Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You May Also Like

As Washington ramps up efforts to bring India on board with sanctions against Russia, U.S. treasury official on visit to Mumbai and Delhi

U.S. Assistant Secretary to discuss Russian oil purchases by India, rupee-rouble trade…

Eid-ul-Fitr moon sighting highlights: Saudi Arabia, India may mark Eid same day

Eid-ul-Fitr 2022 moon sighting highlights: There is a wafer-thin chance that Muslims…

सड़क, रेल, 5G… अरुणाचल बॉर्डर से सटे तिब्‍बत में क्‍या-क्‍या गुल खिला रहा चीन, सेना ने सब बताया

Edited by दीपक वर्मा | भाषा | Updated: May 17, 2022, 1:08…

Russia-Ukraine Crisis: Indian crisis: People without Covid-19 negative reports and unvaccinated Indians can enter Delhi airport

The Delhi airport issued a revised advisory to Indian citizens on Saturday…